khabarspecial/Breaking News: 54000 petrol pumps across india to remain closed on 13th october over various demands,ब्रेकिंग न्यूज़: देशभर के 54,000 पेट्रोल पंप 13 अक्टूबर को रहेंगे बंद, पुरे देश मै रहेगा चक्का जाम, Khabar special petrol pump hindi news, petrol news, transport news, ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस, 54000 पेट्रोल पंप, पेट्रोल पंप मालिकों, कलकत्ता गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन, अध्यक्ष प्रभात कुमार मित्तल, जीएसटी, 54000 petrol pumps close, petrol pumps Strike, petrol pumps close on 13th October, India, petrol pump owner various demands, Truck owner demands, truk owners one day strike, GST,54000 हजार पेट्रोल पंप रहेंगे बंद, पेट्रोल पंप हड़ताल, पेट्रोल पंप 13 अक्टूबर को रहेंग बंद, भारत, पेट्रोल पंप मालिकों की मांग, ट्रक मालिक हड़ताल, ट्रक मालिकों की एक दिन की हड़ताल, जीएसटी ,Hindi News, News in Hindi

नई दिल्ली, खबरस्पेशल देश दुनिया की खास रिपोर्ट: आम लोगों की मुश्किलें सोमवार से बढ़ सकती है क्योकि देशभर के पेट्रोल पंप मालिकों ने हड़ताल पर जाने की घोषणा की है। बताया जा रहा है कि अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पेट्रोल पंप मालिक हड़ताल पर जाने की ऐलान किया है.

वहीं ट्रक मालिकों और संचालकों ने शनिवार को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत विघटनकारी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया और नए अप्रत्यक्ष कर के तहत डीजल को लाने की मांग की.

ब्रेकिंग न्यूज़: 9 और 10 अक्टूबर थम जायेगा पूरा देश, चक्का जाम होगी हर गली, जानिये पूरी कहानी

बताया जा रहा है कि शुक्रवार यानि 13 अक्टूबर को देशभर के 54000 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। ये लोग अपनी कई मांगों को लेकर एक दिन के हड़ताल पर जाने का ऐलान किया है.

यह भी पढ़ें: शादी से पहले दूल्हे ने दुल्हन के पीछे लगा दिया जासूस और शादी के दिन खोल दी दुल्हन की पोल

ट्रक मालिकों और संचालकों ने 36 घंटों के राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया, जो नौ अक्टूबर को सुबह आठ बजे से शुरू होगी।

कलकत्ता गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रभात कुमार मित्तल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, जीएसटी लागू होने के बाद परिवहन व्यवसाय बुरी तरह से प्रभावित हुआ है.

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस और अन्य ट्रांसपोर्ट एसोसिएशनों ने दो दिनों की सांकेतिक राष्ट्रीय हड़ताल का आह्वान किया है, जो नौ अक्टूबर (सोमवार) को सुबह आठ बजे से शुरू होगी और 10 अक्टूबर को शाम आठ बजे खत्म होगी। हम भी इसका समर्थन करते हैं.

यह भी पढ़ें: रिया ने हनीमून पर जाने से पहले कहा मै प्रेग्नेंट नहीं, बोलीं-मेरा बेबी कैसे…

उन्होंने कहा कि जीएसटी के तहत विभिन्न नीतियों के कारण सड़क परिवहन क्षेत्र में बहुत भ्रम और विघटन पैदा हुआ है।  उन्होंने कहा, डीजल मूल्य में अत्यधिक वृद्धि और कीमतों में रोजाना उतार-चढ़ाव सड़क परिवहन क्षेत्र को प्रभावित कर रहा है.

डीजल और टोल पर किया जानेवाला खर्च ट्रक के परिचालन खर्च के 70 फीसदी से भी अधिक है, जबकि डीजल को ही जीएसटी के अंतर्गत नहीं रखा गया है.

डीजल को जीएसटी के अंतगर्त लाना आवश्यक है, ताकि देश में एक कीमत पर डीजल की बिक्री हो. ट्रांसपोर्टर्स ने यह मांग भी की कि डीजल की कीमतों की समीक्षा तिमाही आधार पर होनी चाहिए.

Shocking Breaking News: बॉलीवुड के इस बड़े अभिनेता पर लगा रेप का केस, जानें पूरा मामला