अपनी मांगों के लिए अनशन पर बैठे दिल्ली के सीएम केजरीवाल से इन चार राज्यों ये सीएम करेंगे मुलाकात, khabarspecial online hindi news, khabar special today's breaking news, खबरस्पेशल न्यूज़, खबर स्पेशल ऑनलाइन हिंदी समाचार, Kejriwal Protest, Arvind Kejriwal Anshan, Chief Minister of Delhi, Anjan on LG House, Kejriwal to meet the CM of 4 states,केजरीवाल अशनन, अरविंद केजरीवाल अनशन, दिल्ली के मुख्यमंत्री, एलजी हाउस पर अनशन, केजरीवाल से मिलेंग 4 राज्यों के सीएम

नई दिल्ली, खबरस्पेशल न्यूज़, रेखा शर्मा, 16-जून’2018: अपनी मांगें मनवाने के लिए उप-राज्यपाल दफ्तर में अनशन पर बैठक दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से कुछ देर बाद चार राज्यों के सीएम मुलाकात करेंगे.

मिलनेवालों में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र पदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, केरला के सीएम पिनारयी विजयन और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी हैं.

Race-3 Review: सलमान की फिल्म रेस 3 ने किया लोगों को निराश, सलमान का धमाकेदार एक्शन नहीं आया काम, फिल्म नहीं कर पायी कोई कमाल

वे सभी पहले अरविंद केजरीवाल के आवास पर जाकर उनकी पत्नी से मुलाकात करेंगे और उसके बाद एलजी हाउस जाकर वहां पर अरविंद केजरीवाल से मिलेंगे। ख़बरों के मुताबिक, वे सभी एलजी हाउस तक मार्च कर सकते हैं.

छठे दिन भी अनशन जारी
गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके तीन मंत्रियों का उपराज्यपाल के कार्यालय पर धरना आज छठे दिन भी जारी रहा। आप नेता उपराज्यपाल से आईएएस अधिकारियों को ‘हड़ताल’ खत्म करने का आदेश देने की मांग कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: अंगूरी भाभी के इस Hot Look ने सबको बनाया अपना दीवाना, थाईलैंड में इस ग्लैमरस अंदाज में नजर आयी

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और विकास मंत्री गोपाल राय केजरीवाल के साथ सोमवार शाम से उपराज्यपाल के कार्यालय पर धरना दिए हुए हैं। जैन और सिसोदिया मंगलवार से भूख हड़ताल पर हैं। केजरीवाल ने कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा था कि क्या वह अपने अधिकारियों के बैठक में शामिल ना होने पर काम कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: इंदौर के डॉक्टर ने इस 1 अद्भुत तरकीब से सिर्फ 30 दिन में दोबारा उगाए अपने बाल, दोबारा बाल उगाने का 1 नेचुरल तरीका

उन्होंने आईएस अधिकारियों की कथित ‘हड़ताल‘ के मामले पर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा और उन्हें अपने अधिकारियों के बिना काम चलाने की चुनौती दी । उन्होंने कहा कि क्या प्रधानमंत्री एक दिन भी अधिकारियों के बगैर काम कर सकते हैं .