किसान राजनीतिक महा दंगल Live:: गृहमंत्री राजनाथ सिंह किसानों से मिले, इस शर्त पर मानी 9 में से 7 मांगें, Khabarspecial News, Delhi News, Kisan Kranti Padyatra, भारतीय किसान यूनियन (भाकियू), खबरस्पेशल हिंदी समाचार, हर खबर खास है, आज की सबसे खास खबरें, दिल्ली न्यूज़, farmer in india, haridwar to delhi via meerut, kisan kranti padyatra live updates, bhartiya kisan union, narendra modi govt policies on farmers, uttar pradesh, delhi, uttrakhand, loan waiver of farmers , lower electricity tariff for farmers, भारत में किसान, हरिद्वार मेरठ के जरिए दिल्ली तक, किसान क्रांति पद्यात्रा, भारतीय किसान यूनियन, किसानों पर नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियां, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, उत्तराखंड, किसानों का ऋण छूट, किसानों के लिए कम बिजली शुल्क

नई दिल्ली, खबरस्पेशल न्यूज़, अजित सिंह, 2-अक्टूबर’2018: दिल्ली में किसानों का राजनितिक दंगल पल पल आग पकड़ता जा रहा है, किसान आंदोलन पर अब राजनितिक चिंगारी लग चुकी है.किसान आंदोलन पर अब हर पार्टी के राजनितिक हथकंडे अपनाये जा रहे हैं और नेताओं का राजनितिक दंगल सामने आगया है.

किसान राजनितिक महा दंगल Live: किसानों के आगे इस वजह से झुकी सरकार, ज्यादातर मांगे मानने का दिलाया किसानों को यह कहकर भरोसा

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के बैनर तले बड़ी संख्या में किसान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं. हरिद्वार से निकली किसानों की रैली को यूपी-दिल्ली की सीमा पर रोक दिया गया. इसके बाद सुरक्षाबलों ने किसानों पर वॉटर कैनन छोड़ दिया. आंसू गैस के गोले भी दागे गए . इस दौरान कई किसान घायल हो गए.

इससे पहले कानून-व्यवस्था की समस्या खड़ी होने की आशंका को देखते हुए पुलिस ने सोमवार को पूर्वी और उत्तरपूर्वी दिल्ली में एक हफ्ते के लिये निषेधाज्ञा लागू कर दी थी. पूर्वी दिल्ली में पुलिस उपायुक्त (पूर्व) पंकज सिंह ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत आदेश जारी किया जो आठ अक्टूबर तक प्रभावी रहेगा.

यह भी पढ़ें: यह बात कितने भारतीय जानते हैं कि भीमराव अंबेडकर वह नाम है जिसने हर शोषित वर्ग की लड़ाई लड़ी, अंबेडकर युवा छात्र सभा, कमेंट में जरूर बतायें

इस आदेश के अंतर्गत प्रीत विहार, जगतपुरी, शकरपुर, मधु विहार, गाजीपुर, मयूर विहार, मंडावली, पांडव नगर, कल्याणपुरी और न्यू अशोक नगर पुलिस थानाक्षेत्र आते हैं.

जब उत्तर प्रदेश के विकास मंत्री सुरेश राणा केंद्रीय कृषि मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ किसानों से मिलने के लिए दिल्ली-यूपी सीमा पर पहुंचे, तो किसानों ने नारे लगाए ‘सुरेश राणा वापस जाओ. केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने किसान क्रांति पदयात्रा में आए किसानों से दिल्ली-यूपी की सीमा पर मुलाकात की.

पंजाब से आए किसान करतार सिंह ने कहा, ‘क्या हम वास्तव में खतरनाक हैं? क्या हम शहरी निवासियों के लिए खतरा हैं? पुलिस हमें क्यों मार रही है और हम पर फायरिंग क्यों कर रही है? हम किसी को नुकसान पहुंचाने नहीं आए हैं. हम यहां विरोध करने और अपने अधिकारों पर दावा करने आए हैं.

वीडियो: फिल्म मणिकार्णिका का ये टीजर देख कर आपके रोंगटे जरूर खड़े हो जायेंगे, पहले कभी नहीं देखा कंगना का ऐसा अवतार

इसके बाद हम चले जाएंगे. एक किसान क्यों किसी की सामान्य जिन्दगी खराब करेगा.’ करतार सिंह ने आगे कहा कि वे लोग कड़ी धूप में काम करने के आदी हैं और इसलिए उन्हें यहां बैठने में कोई समस्या नहीं है. हमें असहज महसूस करा कर आपको कुछ नहीं मिलेगा.

भाकियू के आंदोलित किसानों की मांग स्वीकार किए जाने के बाद किसान झूम उठे. मांगी गई मानों में एमएसपी पर कानून, कृषि से जु़ड़ी वस्तुओं पर जीएसटी (अब यह पांच फीसदी होगा), एनजीटी कमिटी का गठन, गन्ना किसानों की मांग जल्द से जल्द पूरी हो और इंश्यूरेंस से जुड़े बिल में बदलाव शामिल है.

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने मंगलवार को कहा कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आंदोलित किसानों से मुलाकात की है और बहुमत मांगों पर सहमति व्यक्त की है. शेखावत किसानों के नेताओं और यूपी मंत्री लक्ष्मी नारायण और सुरेश राणा के साथ दिल्ली-यूपी सीमा की ओर बढ़ रहे हैं.

================================================

सिर्फ एक क्लिक करके पढ़े आज की सभी बड़ी खास खबरें :  क्लिक करें

यहाँ क्लिक करें और देखें बॉलीवुड की सबसे बड़ी खबर ख़बरें :  बॉलीवुड लेटेस्ट न्यूज़

किसान राजनितिक महा दंगल Live: किसानों के आगे इस वजह से झुकी सरकार, ज्यादातर मांगे मानने का दिलाया किसानों को यह कहकर भरोसा