khabarspecial/half-of-india-severely-hit-by-flood-57-die-in-gujarat-alone-बाढ़-और-बारिश-से-परेशान-आध
khabarspecial.com/half-of-india-severely-hit-by-flood-57-die-in-gujarat-alone-बाढ़-और-बारिश-से-परेशान-आध

नई दिल्ली, बाढ़ और बारिश से परेशान: इस वर्ष मॉनसून की बारिश ने ऐसा कहर बरपाया है कि लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो चुका है आधा से ज्यादा हिंदुस्तान बढ़ और बारिश से परेशान है. देश के कई राज्यों में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है और 100 से ज्यादा लोग इस दुनिया को अलबिदा कह चुके हैं.

राजस्थान, गुजरात, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, असम, पश्चिम बंगाल के कई जिलों में भारी बारिश ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. गुजरात में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई.

जान जोखिम में डालकर नदी की तेज धार को पार करने वाली ये तस्वीरें आपके रौंगटे खड़े कर देंगी. ये कोई एडवेंचरस गेम नहीं है और न ही इस नदी को पार कर रहे ये लोग किसी गेम का हिस्सा हैं.

Related image

दरअसल ये उत्तरकाशी से 185 किलोमीटर दूर हलारा खंड के रहने वाले लोगों की मुश्किल जिंदगी की तस्वीरें हैं.

भारी बारिश से सड़क बह जाने की वजह से इन्हें अपनी जान हथेली पर रखकर इस तरह से नदी पार करना पड़ रहा है. यहां के लोग प्रशासन से मदद की अपील कर रहे हैं.

लुधियाना में महिला प्रिंसिपल ने 12वीं के छात्र से बनाये जबरन संबंध..

ये तस्वीरें राजस्थान के जालौर की हैं. इन्हें देखकर ऐसा लग रहा है कि ये कोई नदी है लेकिन ये नदी नहीं दरअसल जोधपुर का हाइवे है.

यहां पिछले एक हफ्ते से हो रही लगातार बारिश की वजह से गढवाड़ा गांव में बांडी नदी के ऊपर बना पुल टूट गया है जिसकी वजह से हाईवे पर 5 से 6 फीट उंचाई तक पानी भर गया है और आवाजाही पूरी तरह ठप है.

Related image

ये मंजर गुजरात के बनासकांठा का है जहां लगातार कई दिनों से हो रही भयंकर बारिश ने तबाही मचा रखी है. गुजरात में बाढ़ की बजह से सबसे ज्यादा नुकसान बनासकांठा को ही हुआ है.

भारतीय स्टेट बैंक ने Savings Account पर मिलने वाली ब्याज दरें….

अबतक यहां करीब करीब 57 लोगों की जान भी जा चुकी है. कल गुजरात के सीएम विजय रुपानी ने बनासकांठा में बाढ़ प्रभावित लोगों से मुलाकात कर उन्हें मुवाअजे का आश्वासन दिया.

Image result for gujarat rainfall

पाटन में एयरफोर्स का ये रेस्क्यू ऑपरेशन काबिले तारीफ है. आपको बता दें कि जिस व्यक्ति को रेस्क्यू किया जा रहा है उसकी 17 हड्डियां टूट गई थीं और जब एयरफोर्स को पता लगा कि उसे मदद की जरुरत है, तो बिना समय गंवाए सिर्फ आधे घंटे के अंदर उस शख्स को बचा लिया गया.

Related image

बड़वानी में बाढ़ पीड़ितों ने कफन के साथ प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ कफन सत्याग्रह कर अपना दर्द बयां किया.

सरकार और प्रशासन के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर कर रहे इन लोगों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी की मन की बात में गुजरात में 26 लोगों की मौत पर संवेदना व्यक्त कर रहे हैं लेकिन बाढ़ प्रभावित दो लाख लोगों के लिए कोई संवेदना व्यक्त नहीं की.