हिमाचल प्रदेश में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के लिए लगी लंबी कतार, नड्डा का पलड़ा भारी, khabar special, khabarspecial online hindi news, धूमल एंड कंपनी हाईकमान, जेटली कृपा, खबरस्पेसल, खबर स्पेसल, खास खबर, खास हिंदी खबर, Himachal cm, jp nadda, himachal bjp cm candidate, prem kumar dhumal, हिमाचल सीएम, जेपी नड्डा, हिमाचल बीजेपी सीएम कैंडिडेट, प्रेम कुमार धूमल, India News in Hindi, Latest India News Updates

मुख्यमंत्री पद/हिमाचल प्रदेश, खबरस्पेसल न्यूज़: हिमाचल में सीएम पद को लेकर अभी किसी के नाम पर मुहर नहीं लगी है। लेकिन अब माना जा रहा है कि अभी तक की रेस में नड्डा सबसे आगे चल रहे हैं। नड्डा, जयराम एक खेमे के हैं। शांता जयराम खेमे के पक्षधर हैं.

यह भी पढ़ें: गुजरात में बनी सरकार: विजय रुपानी को सौंपी गई सीएम की कमान, नितिन पटेल होंगे डिप्टी सीएम

धूमल एंड कंपनी हाईकमान, खासकर जेटली कृपा और धूमल-पीएम रिलेशन पर आशान्वित है। फिलहाल टीम धूमल रेस में पिछड़ती हुई दिख रही है, लेकिन उम्मीद भी कर रही है.

यह भी पढ़ें: सलमान और शिल्पा मुश्किल में, कोर्ट पहुंचा विवाद आपत्तिजनक शब्द बोलने का मामला

वहीं भारद्वाज और एक अन्य चेहरे पर भी नजर है। डिप्टी सीएम की व्यवस्था पर भी विचार किया जा रहा है। पर्यवेक्षक और प्रभारी को क्लीयर मैंडेट के साथ भेजे जाने की तैयारी है.

वहीं हिमाचल में सीएम चेहरा घोषित करने को लेकर भाजपा में चल रही माथापच्ची के बीच पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का बड़ा बयान आया है। उन्होंने सीएम पद के लिए अपने दावे को लेकर प्रेस नोट जारी कर स्थिति स्पष्ट की है। धूमल ने अपने फेसबुक पेज पर भी प्रेसनोट को जारी किया है.

यह भी पढ़ें: चारा घोटाले के आरोप में लालू यादव बने कैदी नंबर 3351, जेल के स्पेशल रूम में होगी इस तरह की खिदमत

प्रेस नोट जारी कर धूमल ने कहा कि 2017 के चुनावों में जनता ने पार्टी को अपना आशीर्वाद देकर सत्तासीन किया है। पार्टी का आभारी हूं कि उसने मेरे नेतृत्व में यह चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। प्रदेश की जनता ने भी विश्वास प्रकट करते हुए दो तिहाई बहुमत प्रदान किया.

वहीं, शानदार जीत के बावजूद अपनी सीट हारने को उन्होंने दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। कहा कि चुनावी नतीजों के दिन ही स्पष्ट कर दिया था कि वह किसी पद की दौड़ में नहीं है और नेतृत्व का चयन पार्टी हाई कमान के अधिकार क्षेत्र में है.

सीएम पद के लिए मुकाबला अब और रोचक हो गया

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने किसी भी पद की दौड़ में न होने की बात कह उनके नाम को लेकर चल रहे कयासों पर विराम लगा दिया है। ऐसे में सीएम पद के लिए मुकाबला अब और रोचक हो गया है.

यह भी पढ़ें: Lucky Charm: शादी के बाद अनुष्का के लिए Big Good News, जानिए क्या है पूरा मामला

हालांकि भाजपा हाईकमान ने गुजरात के बाद हिमाचल के सीएम का नाम भी तय कर दिया है। सीएम के नाम का एलान पर्यवेक्षक निर्मला सीतारमण और नरेंद्र तोमर रविवार दोपहर 12:30 बजे विधायक दल की बैठक में कर सकते हैं.

जीते विधायकों से जयराम ठाकुर जबकि विधायक दल से बाहर के नेता पर दांव खेला तो संसदीय बोर्ड की पहली पसंद जेपी नड्डा बताए जा रहे हैं। दबाव में दिख रहे धूमल खेमे के लिए इतनी राहत जरूर है कि समर्थक विधायकों को मंत्रिमंडल में तरजीह मिल सकती है.

यह भी पढ़ें: 2017 में इन टीवी ऐक्ट्रेसेज का रहा हॉट बिकिनी अवतार, देख कर आप हैरान रह जायेंगे

पर्यवेक्षकों के सामने धूमल समर्थकों के शक्ति प्रदर्शन का नतीजा भी सामने आएगा। माना जा रहा है कि पर्यवेक्षकों ने खेमेबाजी को लेकर भी अपनी रिपोर्ट केंद्रीय नेतृत्व को दी होगी।

इधर, मुख्यमंत्री के नाम तय करने के लिए एक तरफ दिल्ली में केंद्रीय नेतृत्व माथापच्ची करता रहा, जबकि विधायक शिमला में डटे रहे। विधायकों को शिमला और आसपास रहने के निर्देश पहले से दिए गए थे।

वरिष्ठ विधायक जयराम ठाकुर, राजीव बिंदल, सुरेश भारद्वाज शिमला में थे, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल भी अपने आवास पर थे। कुछ विधायक चंडीगढ़ गए थे, जिन्हें पार्टी ने दोपहर बाद रविवार को होने वाली विधायक दल की बैठक के बारे में सूचित कर बुला लिया