अब गोवा में मंत्रों के जाप से इस तरह सुधरेगी फसल, गोवा सरकार किसानों के लिए लेकर आयी है लाई वैदिक तकनीक, khabar special online news, khabarspecial news, Goa News, खबर स्पेशल हिंदी समाचार, गोवा की खास खबर, गोवा समाचार, हर खबर खास है, खबरस्पेशल न्यूज़, किसान, खेती, गोवा, विजय सरदेसाई, Farmers, Crop, Goa, Vijat Sardesai, गोवा के कृषि मंत्री विजय सरदेसाई, गोवा के कृषि मंत्री की पत्नी ऊषा और राज्य के कृषि निदेशक नेल्सन फिगेरिएडो, चैनलिंग शक्ति, वैदिक तकनीक

गोवा, खबरस्पेशल न्यूज़, वर्षा सागर, 4-जुलाई’2018: गोवा की बीजेपी नीत सरकार अच्छी फसल के लिए वैदिक तकनीक शुरू कर रही है. मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि इसके तहत किसानों को अच्छी फसल के लिए हर दिन कम से कम 20 मिनट तक बैठकर ध्यान लगाना और ‘ओम रोम जम सह’ का जाप करना होगा, ताकि उनमें कॉस्मिक ऊर्जा का संचार हो सके.

यह भी पढ़ें: आज होगा दिल्ली के बॉस का सबसे बड़ा खुलासा, आज सुप्रीम कोर्ट में केजरीवाल सरकार Vs एलजी का फैसला

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, गोवा के कृषि मंत्री विजय सरदेसाई ने फतरोदा स्थित अपने आवास के पास स्थित एक खेत में मंगलवार को इसके पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत की. इसका नाम शिव योग कॉस्मिक फारमिंग रखा गया है, जिसे केमिकल इंजीनियर से तांत्रिक बने डॉक्टर अवधूत शिवानंद के गुड़गांव स्थिति शिव योग फाउंडेशन ने डिजाइन किया है.

सोशल मीडिया पर जारी यह ‘शक्ति’ वीडियो राज्य के किसानों के बीच वायरल हो गया है. अखबार ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि सरदेसाई की पत्नी ऊषा इस फाउंडेशन की अनुयायी हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कृषि मंत्री सरदेसाई इस प्रोजेक्ट को लॉन्च करते हुए कहा, ‘इसमें एक पैसा नहीं लगना और कृषि मंत्री होने के नाते मैं किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए हर विधि का उपयोग करूंगा.

यह भी पढ़ें: क्या आपने देखा बदलते बॉलीवुड का नया रूप, अब बॉलीवुड भी बन चूका है हॉलीवुड

अगर आप मुझे इस बात का यकीन दिला देते हैं कि रॉक शो या ब्यूटी कॉन्टेस्ट से खेती के प्रति लोगों की रुचि बढ़ाने में मदद मिलेगी तो मैं इसे बीच खेत में आयोजित कराऊंगा. हमें अब ऐसे तरीकों पर ध्यान देने की जरूरत है, जिससे सभी की खेतीबाड़ी में रुचि बढ़े.’

सरेदेसाई ने इस दौरान कहा, ‘मेरी पत्नी ऊषा शिव योगी है और वह इस दर्शन को प्रमोट करने वालों में से एक रही हैं. शुरुआत में इसे लेकर मैं भी उलझन में था, लेकिन यह कोई जादू नहीं है. इसके पीछे लंबी स्टडी की गई है.

अखबार के मुताबिक, गोवा के कृषि मंत्री की पत्नी ऊषा और राज्य के कृषि निदेशक नेल्सन फिगेरिएडो ने इस साल जनवरी में डॉ. शिवानंद के साथ एक घंटे के वर्कशॉप में हिस्सा लिया था, जडहां उन्हें मिट्टी की ‘चैनलिंग शक्ति’ के बारे में बताया गया था.

यह भी पढ़ें: बुराड़ी डेथ मिस्ट्री में पुलिस के सामने आया नया चौंकाने वाला सच, पड़ोसियों ने कही परिवार के सदस्यों के लिए ये बात

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सरदेसाई ने इस वर्कशॉप में शामिल होने की पुष्टि की है, लेकिन फिगेरिएडो से इस बारे में संपर्क नहीं हो सका है.