नोटबंदी की वर्षगांठ पर सरकार का बड़ा धमाका, प्रधान मंत्री मोदी ने दिए संकेत, Note Ban Anniversary, PM Modi, khabar special, khabarspecial News, Hindi News, Online Hindi Khabar, नोटबंदी की पहली वर्षगांठ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , बेनामी, भ्रष्टाचार, Pm modi, note ban, gst, corruption, congress, मोदी, INDIA NEWS in Hindi, Latest INDIA NEWS Updates, खबर स्पेशल, खबरस्पेशल हिंदी न्यूज़

नई दिल्ली, खबर स्पेशल न्यूज़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘बेनामी’ संपत्तियों के खिलाफ जोरदार हमले का संकेत देते हुए कहा है कि कांग्रेस इसकी आशंका में काफी चिंतित नजर आ रही है क्योंकि सरकार की इस कड़ी कार्रवाई में उसके नेताओं की संपत्तियों को बख्शा नहीं जाएगा.

शनिवार को हिमाचल के कांगड़ा में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए उन्होंने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस को जमकर लताड़ लगाई।

मंडी जिले के सुंदरनगर की रैली में पीएम ने कहा कि नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस का अभियान जनता को भ्रमित करने के लिए था ताकि बेनामी संपत्तियों के खिलाफ उनकी सरकार की बड़ी कार्रवाई से पहले उनके खिलाफ माहौल बनाया जा सके.

यह भी पढ़ें: वर्ल्ड फूड इंडिया फेस्टिवल में रामदेव ने 50 शेफों के साथ मिलकर बनाई 1100 किलो खिचड़ी

उन्होंने कहा, ‘समय आ गया है जब गरीबों को वह सब कुछ लौटाया जा सके जो उनसे लूटा गया था। मैं ऐसे हालात पैदा करने जा रहा हूं कि कांग्रेस के नेताओं के लिए अपनी बेनामी संपत्तियों को हासिल करना मुश्किल हो जाएगा.

Related image

नोटबंदी की पहली वर्षगांठ को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाने के कांग्रेस के फैसले पर चुटकी लेते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वास्तव में विपक्षी पार्टियों के लिए यह ‘काला धन दिवस’ है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कुछ नेताओं से उन्होंने जानकारी जुटाने की कोशिश की तो पता चला कि उनमें से कइयों के 500 रुपये को नोटों से भरे बैग तो कुछेक के 1000 रुपये के नोटों से भरे बैग धरे के धरे रह गए.

दर्द की वीडियो: सौतेले पिता के यौन शोषण की कहानी सुनिए बेटी की जुवानी, आँख के आंशु रोक सको तो रोक लेना

इस बीच, उनकी सरकार ने बेनामी कानून पारित कर दिया है। कांग्रेस को इस बात की फिक्र है कि मोदी जल्दी ही इस मोर्चे पर भी नतीजे देने लगेंगे। कांग्रेस के जिन नेताओं ने अपने ड्राइवरों और रसोइयों के नाम पर जमीन, फ्लैट और दुकानें खरीद रखी हैं, उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा।

Related image
वे ऐसे सभी लोगों से कहना चाहेंगे कि नेताओं की किसी भी बेनामी संपत्ति को वापस न करें। यह जनता का पैसा है और उनसे लूटा गया है। इसलिए, अब उसे जन कल्याण में लगाया जाएगा.

इससे पहले कांगड़ा के चंबी में आयोजित रैली में उन्होंने कांग्रेस की दीमक से तुलना करते हुए कहा कि ऐसी पार्टी का सफाया करने के लिए भाजपा को 9 नवंबर के चुनाव में दो तिहाई बहुमत से जिताएं.

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद गरीब और मध्य वर्ग के लोग अपने-अपने काम में जुट गए हैं लेकिन बेइमान लोग उनसे नाराज हैं और उनसे बदला लेना चाहते हैं.