दिल्ली हाईकोर्ट ने मेट्रो कर्मचारियों की हड़ताल पर इसलिए लगायी रोक, 19 जून से यमुना बैंक और शाहदरा समेत कुछ मेट्रो स्टेशनों पर प्रदर्शन कर रहे है, khabarspecial hindi news, today's breaking news, Delhi Metro News, Delhi NCR News, Today's News Headlines, खबरस्पेशल न्यूज़, खबर स्पेशल ऑनलाइन हिंदी समाचार, हर खबर खास है, दिल्ली मेट्रो की ताजा खबरें, दिल्ली मेट्रो न्यूज़, दिल्ली एनसीआर मेट्रो न्यूज़, DMRC, Delhi Metro News

नई दिल्ली, खबरस्पेशल न्यूज़, अजित सिंह, 29-जून’2018: दिल्ली हाईकोर्ट ने मेट्रो कर्मचारियों की हड़ताल पर रोक लगा दी है. कोर्ट ने कहा कि चुकि कर्मचारी सावर्जनिक परिवहन का संचालन कर रहे हैं जिसका हर दिन करीब 25 लाख लोग इस्तेमाल करते हैं.

लिहाजा, मेट्रो कर्मचारियों की 30 जून से प्रस्तावित हड़ताल को रोका जाता है. गौरतलब है कि मेट्रो कर्मचारी अपनी अलग-अलग मांगों को लेकर हड़ताल पर जाने की बात कर रहे हैं. वहीं दिल्ली सरकार ने मेट्रो कर्मचारी की मांगों का समर्थन किया है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार दिल्ली मेट्रो का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए आवश्‍यक सेवा अनुरक्षण अधिनियम (एस्मा) लगा सकती है.

Sanju Movie Review: फिल्म संजू में 3 घंटे में इस तरह से समेट दी संजय दत्त की 37 साल की पूरी जिंदगी, राजकुमार हिरानी के शानदार डायरेक्शन की जुगलबंदी है संजू

हडताल की स्थिति का सामना करते समय सेवाओं का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों द्वारा एस्मा लगाया जाता है. सीएम केजरीवाल ने इस मामले को लेकर ट्वीट भी किया. उन्होने लिखा कि मेट्रो कर्मचारियों की सभी वास्तविक मांगों को पूरा किया जाना चाहिए , हड़ताल से लाखों लोगों को असुविधा होगी.

Related image

हड़ताल नहीं होनी चाहिए. सरकार अंतिम उपाय के रूप में एस्मा लगा सकती है, तो मैं कर्मचारियों से हड़ताल पर नहीं जाने का आग्रह करता हूं. इन सब के बीच डीएमआरसी के अधिकारियों और डीएमआरसी स्टॉफ परिषद के प्रतिनिधियों के बीच आज दो दौर की वार्ता विफल रही जिसका मतलब है कि कर्मचारी 30 जून से हड़ताल पर जा रहे है और इसका सेवाओं पर बुरा असर पड़ने की आशंका है.

परिषद के सचिव रवि भारद्वाज ने कहा कि वार्ता विफल हो गई है और हम किसी समाधान पर नहीं पहुंच सके. इसलिए हम आज मध्यरात्रि से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जायेंगे. गौरतलब है कि डीएमआरसी में लगभग 12,000 कर्मचारी कार्यरत है जिनमेंसे लगभग नौ हजार गैर – कार्यकारी कर्मचारी हैं. डीएमआरसी के कुछ गैर – कार्यकारी कर्मचारी अपनी आठ सूत्री मांगों के समर्थन में 19 जून से यमुना बैंक और शाहदरा समेत कुछ मेट्रो स्टेशनों पर प्रदर्शन कर रहे है.

यह भी पढ़ें: मानवता को तार-तार कर युवती का गैंगरेप करके दरिदों ने बना लिया वीडियो और अब कर रहे हैं एक रात बिताने के लिए ब्लैकमेल

कर्मचारी वेतनमान संशोधन समेत कई मुद्दों पर विरोध कर रहे हैं. मेट्रो कर्मचारी की मांगों को दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री ने भी अपना समर्थन दिया है. उन्होंने गुरुवार को एक ट्वीट किया कि कर्मचारियों की मांगों पर चर्चा के लिए मेट्रो अधिकारियों की तत्काल बैठक बुलाई गई है. एस्मा से संबंधित फाइल उपराज्यपाल की सहमति के लिए भेजी गई है.

Related image

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से निर्देश मिले हैं कि मेट्रो कर्मचारियों की सभी वास्तविक मांगों को दिल्ली मेट्रो के सुचारू संचालन के लिए पूरा किया जाना चाहिए. मेट्रो हड़ताल रोकने के लिए जरूरत होने पर एस्मा भी लागू किया जाना चाहिए. दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने गैर – कार्यकारी कर्मचारियों के मुद्दों के समाधान के लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) को आज निर्देश दिये हैं.

यह भी पढ़ें: फिल्म संजू रिलीज होते ही मनीषा कोइराला ने संजय दत्त से जुड़ा खोला जिंदगी का ये सबसे बड़ा राज

डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक को लिखे एक पत्र में परिवहन मंत्री ने अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच हुई वार्ता की प्रगति के बारे में भी जानकारी मांगी. पत्र में कहा गया है कि मुद्दों का जल्द से जल्द समाधान करने के लिए प्रयास किये जाये ताकि किसी भी प्रकार से मेट्रो रेल का परिचालन बाधित नहीं हो.

Image result for मेट्रो कर्मचारियों की हड़ताल

वहीं डीएमआरसी ने एक बयान में कहा कि एक गैर मान्यता प्राप्त यूनियन के साथ मिलकर, कर्मचारियों के एक समूह ने पिछले कुछ दिनों से आंदोलन शुरू किया है. कोई भी कार्रवाई जो डीएमआरसी के आचरण नियमों का उल्लंघन करती है स्वीकार नहीं की जा सकती है और इसे उपयुक्त रूप से लिया जाएगा.