अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने उमड़ा पूरा बॉलीवुड, श्रद्धांजलि देने आये स्‍वामी अग्निवेश्‍ा की कुछ युवकों ने पिटाई कर दी, khabarspecial News, Swami Agnivesh, Atal Bihari Bajpayee, खबरस्पेशल न्यूज़, हर खबर खास है, आज की सबसे बड़ी खबर, अटल बिहारी वाजपेयी, Bhojipuri, Bhojipuri News, Atal Bihari Vajpayee, श्रद्धांजलि, भोजपुरी, Atal bihari vajpayee, Atal bihari vajpayee died,Atal bihari vajpayee died in aiims, Atal bihari vajpayee's cremation,अटल बिहारी वाजपेयी, अटल बिहारी वाजपेयी का देहांत,अटल बिहारी वाजपेयी का एम्स में देहांत,अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार, सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर श्रद्धांजलि दी, जिसमें रवि किशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ, पवन सिंह, पूनम दुबे, अवधेश मिश्रा, आम्रपाली दुबे, खेसारीलाल यादव, परितोष त्रिपाठी और अंजना सिंह

नई दिल्ली/खबरस्पेशल न्यूज़, अजित सिंह, 17-अगस्त’2018: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लम्बी बीमारी के बाद गुरुवार को एम्स में निधन हो जाने से पूरा देश शोक में है. एक तरफ जहां बॉलीवुड के कई दिग्गज सितारे अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़ी यादें अपने-अपने तरीकों से साझा करते रहे.

तो वहीं भोजपुरी फिल्म जगत के भी कई सितारों ने भी उन्हें सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर श्रद्धांजलि दी, जिसमें रवि किशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ, पवन सिंह, पूनम दुबे, अवधेश मिश्रा, आम्रपाली दुबे, खेसारीलाल यादव, परितोष त्रिपाठी और अंजना सिंह के नाम मुख्य रूप से शामिल है.

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने जा रहे स्‍वामी अग्निवेश्‍ा की कुछ युवकों ने पिटाई कर दी. भाजपा दफ्तर में जाने की कोशिश कर रहे स्‍वामी अग्निवेश को कुछ लोगों ने दीन दयाल उपाध्‍याय मार्ग पर रोक लिया और पकड़कर हाथापाई की.

यह भी पढ़ें: देखें फिल्म “ये है पैरानॉर्मल इश्क” का नया पोस्टर, फिल्म सच्ची घटनाओं पर आधारित है

रवि किशन ने पढ़ी कविता
रवि किशन ने अटल जी के लिए फेसबुक पर उनकी एक कविता पढ़ी. रवि किशन इस कविता को पढ़ते हुए भावुक हो गए. रवि किशन ने कविता समाप्त होने पर कहा, ‘प्रणाम अटल जी’. रवि किशन ने अटल जी की जो कविता पढ़ी वो कुछ इस प्रकार है. ”भारत जमीन का टुकड़ा नहीं, जीता जागता राष्ट्रपुरुष है.

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में फिर मिला 8678 अभ्यर्थियों को सिपाही बनने का एक और मौका, इस दिन होगी दस्तावेजों की जांच और मेडिकल

हिमालय मस्तक है, कश्मीर किरीट है, पंजाब और बंगाल दो विशाल कंधे हैं. पूर्वी और पश्चिमी घाट दो विशाल जंघाएं हैं. कन्याकुमारी इसके चरण हैं, सागर इसके पग पखारता है. यह चन्दन की भूमि है, अभिनन्दन की भूमि है, यह तर्पण की भूमि है, यह अर्पण की भूमि है. इसका कंकर-कंकर शंकर है, इसका बिन्दु-बिन्दु गंगाजल है. हम जिएंगे तो इसके लिए, मरेंगे तो इसके लिए….प्रणाम अटल जी.”

Sat sat naman aapko mahanayak #atalbihari Bajpayee ji🙏aap Amar hai 🙏

Posted by Ravi Kishan on Thursday, 16 August 2018

 

 

बता दें, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन कल शाम (गुरुवार) 5 बजकर 5 मिनट पर हुआ. वाजपेयी को 11 जून 2018 को एम्स में भर्ती कराया गया था और डाक्टरों की निगरानी में पिछले नौ सप्ताह से उनकी हालत स्थिर बनी हुई थी. दुर्भाग्यवश, उनकी स्थिति पिछले 36 घंटों में बिगड़ी और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था.