उत्तर प्रदेश की राजनीती में हुआ एक बड़ा बदलाव, योगी को लगा एक बड़ा झटका, खबर जानकर हैरान रह जायेंगे आप, khabar special news, khabarspecial online hindi news, political news, yogi adityanath, akhilesh yadav latest news, समाजवादी पार्टी, नन्द किशोर मिश्रा, शंभू चौधरी नौरंगिया विधानसभा, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, इंद्रजीत सरोज, खबरस्पेसल हिंदी न्यूज़, राजनीती की ताजा जानकारी, राजनितिक खबर, उत्तर प्रदेश की राजनीती

लखनऊ/उत्तर प्रदेश, खबरस्पेसल न्यूज़: राजनीति में नेताओं का आना -जाना लगा रहता है, लेकिन जब बरसों से पार्टी में रहे विधायक अचानक पार्टी छोड़ दे तो ऐसे मामले सुर्खियां बन जाते हैं.

ऐसा ही कुछ हुआ यूपी के सीएम योगी के राज में जहाँ गोरखपुर से सटे कुशीनगर जिले के बीजेपी के दो पूर्व विधायक आज समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए. वहीं एक बसपा के भी एक पूर्व विधायक ने सपा की सदस्यता ग्रहण कर ली.

यह भी पढ़ें: पंचकूला हिंसा में हनीप्रीत के साथ 15 अन्य की कोर्ट में पेशी, तय हो सकते हैं ये अन्य आरोप

बता दें कि कुशीनगर जिले के दिग्गज नेता और ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले नन्द किशोर मिश्रा सेवरही विधानसभा क्षेत्र और शंभू चौधरी नौरंगिया विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे हैं. इन दोनों पूर्व विधायकों ने बीजेपी छोड़कर सपा का दामन थाम लिया.

Image result for नन्द किशोर मिश्रा

नन्द किशोर मिश्रा गत तीस सालों से बीजेपी के साथ रहे हैं. लेकिन अब उनका पार्टी से मोहभंग हो गया. इन दोनों नेताओं को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी की सदस्यता दिलाई. जबकि बसपा के पूर्व विधायक ताहिर हुसैन भी अपने समर्थकों के साथ सपा में शामिल हो गए. नन्द किशोर मिश्रा के सपा में जाने से 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी को बहुत असर पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: यह शख्स बना दुनिया का सबसे अमीर आदमी, इसकी इनकम जानकर हैरान रह जायेंगे

उल्लेखनीय है कि सपा की ताकत में इजाफा होता जा रहा है .इसके पहले बसपा में रहे और 2017 में बीजेपी से विधानसभा चुनाव लड़ने वाले आरके चौधरी ने भी अखिलेश यादव की मौजूदगी में अपनी पार्टी डीएस-4 का सपा में विलय कर दिया था.

Image result for shambhu chaudhary bjp

वहीं बीएसपी के दलित चेहरे इंद्रजीत सरोज भी पार्टी छोड़कर सपा में शामिल हो गए थे. इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी पार्टी में जहां राजनीतिक रूप से सक्रिय लोग शामिल हो रहे हैं.

वहीं हम प्रोफेशनल लोग जैसे डॉक्टर, इंजीनियर और प्रोफेसर का भी पार्टी में स्वागत करेंगे.उन्होंने भाजपा की रंग की राजनीति के साथ ही यूपी खराब कानून व्यवस्था की आलोचना की.