मुल्तान का सुल्तान वीरेंद्र सहवाग ने दिया बड़ा बयान, विराट की चलती तो होता टीम इंडिया का कोच, Virat Kohli, Indian Cricket Team Coach, Virendra Sehwag, Khabar Special News, Indian Cricket Team News, Virendra Sehwag, Virat kohli, Indian Cricket Team Coach, Virendra Sehwag Statement, Virat kohli Support, Virat kohli and Virendra Sehwag, Virat kohli Favor, Virendra Sehwag on Coach, sprot news, cricker news, खबरस्पेशल, खबर स्पेशल न्यूज़, हिंदी खबर

नई दिल्ली, खबरस्पेशल न्यूज़ रिपोर्ट: पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने सोमवार को मेरठ में कहा कि कप्तान भले ही टीम का सर्वेसर्वा होता है लेकिन कई मामलों में उसकी भूमिका केवल राय देने वाली होती है और यही वजह है कि विराट कोहली के समर्थन के बावजूद वह भारतीय टीम का कोच नहीं बन पाए.

अनिल कुंबले के कप्तान कोहली के साथ अस्थिर संबंधों के कारण मुख्य कोच पद छोड़ने के बाद सहवाग भी इसके दावेदारों में शामिल हो गए थे.

सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति ने हालांकि रवि शास्त्री के नाम पर मोहर लगाई जो इससे एक साल पहले कुंबले से दौड़ में पिछड़ गए थे.

यह भी पढ़ें: इस रेलवे स्टेशन की खुदाई में निकला अंग्रेजों के जमाने का गुप्त करोड़ों रूपये का खजाना

सहवाग ने कहा कि कप्तान का टीम से जुड़े विभिन्न फैसलों पर प्रभाव होता है लेकिन कई मामलों में अंतिम निर्णय उसका नहीं होता है.

उन्होंने मेरठ में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘कोच और चयन में कप्तान की भूमिका हमेशा राय देने वाली रही है। विराट कोहली चाहते थे कि मैं भारतीय टीम का कोच बनूं.

जब कोहली ने संपर्क किया तभी मैंने आवेदन किया,लेकिन मैं कोच नहीं बना। ऐसे में आप कैसे कह सकते हैं कि हर फैसले में कप्तान की चलती है.

यह भी पढ़ें: देखिये 13 करोड़ रुपये की लेडीज ब्रा, इन अंडरगार्मेंट्स की कीमत जानकर आप रह जाएंगे हैरान

सहवाग के बारे में कहा गया था कि उन्होंने केवल एक पंक्ति में कोच पद के लिए आवेदन कर दिया था लेकिन अपने करियर में 104 टेस्ट और 251 वनडे खेलने वाले इस विस्फोटक बल्लेबाज ने इससे इनकार किया।