गूगल CEO सुंदर पिचाई पहली बार मिलेगा 2500 करोड़ का तोहफा, जानिए क्या है इसकी खास वजह, khabarspecial.com, khabar special online hindi news, today's breaking news, गूगल के सीईओ सुंदर पिचई, ब्लूमबर्ग, google, Alphabet, गूगल, sunder pichai, salary, chrome, browser, IT company, Share, पैरंट कंपनी अल्फाबेट इंक, फेसबुक के संस्‍थापक मार्क जकरबर्ग, खबरस्पेशल.कॉम, खबर स्पेशल हिंदी न्यूज़, आज की सबसे बड़ी खबर, सूंदर पिचाई को मिला सबसे बड़ा तोहफा, खबरस्पेशल न्यूज़ पर हर खबर खास है

नई दिल्ली, खबरस्पेशल न्यूज़, अजित सिंह, 24-अप्रैल’2018: गूगल के सीईओ सुंदर पिचई पर इस बुधवार (Wednesday) धनवर्षा होगी. वह चार साल पहले मिले इनाम के एक चेक को भुनाने जा रहे हैं. ‘ब्लूमबर्ग’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 में उनका प्रमोशन हुआ था.

यह भी पढ़ें: इसने रची PM मोदी की हत्या की इतनी बड़ी साजिश, अब 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

तब कंपनी ने उन्‍हें 3,53,939 रिस्ट्रिक्टेड शेयर का अवॉर्ड दिया था. अब समय आ गया है उन शेयरों को भुनाने का. ये शेयर गूगल की पैरंट कंपनी अल्फाबेट इंक ने जारी किए थे. रिस्ट्रिक्टेड शेयर वे शेयर हैं जो कुछ समय बाद ही बेचे जा सकते हैं.

खास बात यह है कि पिचई को जब ये शेयर आवंटित हुए थे तब से अब तक इनकी कीमतों में 90 फीसदी का उछाल आया है. यानि अब उनकी कीमत 380 मिलियन डॉलर (2524 करोड़ रुपये) के करीब पहुंच चुकी है.

2015 से संभाल रहे ऐल्‍फाबेट की कमान
‘ब्लूमबर्ग’ के मुताबिक यह रकम किसी पब्लिक कंपनी के कार्यकारी को दिए गए बड़े पेआउट में से एक है. चेन्‍नै में पले-बढ़े पिचई 2015 से अल्फाबेट इंक के गूगल की कमान संभाल रहे हैं.

यह भी पढ़ें: इस वजह से दुष्कर्मी को फांसी देने पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने ली आपत्ति

उन्‍हें सीनियर वाइस प्रेजिडेंट (उत्‍पाद) के पद पर प्रमोशन के समय कंपनी ने ये शेयर दिए थे. उस समय उन्‍होंने सह संस्‍थापक लैरी पेज की अधिकतर जिम्मेदारियां संभालनी शुरू कर दी थीं.

जकरबर्ग को मिला था 2.28 बिलियन डॉलर पेआउट
पहले भी टेक कंपनियों के कार्यकारियों को बड़े पेआउट मिले हैं. फेसबुक के संस्‍थापक मार्क जकरबर्ग को 2.28 बिलियन डॉलर कंपनी के आईपी ऑफरिंग के समय मिले थे. 2016 में टेस्ला के ऐलन मस्क 1.34 बिलियन डॉलर का पेआउट मिला था.

ब्रेकिंग न्यूज़: ग्रेटर नोएडा में कार में लिफ्ट देकर 11वीं की छात्रा से किया गया सामूहिक दुष्कर्म

अल्‍फाबेट 2015 में अलग कंपनी बनी
गूगल ने 2017 के लिए पिचई को मिलने वाला कॉम्पेंसेशन सार्वजनिक नहीं किया है. ब्‍लूमबर्ग के मुताबिक अल्‍फाबेट ने 2015 में गूगल और एक अन्‍य इकाई अदर्स बेट से कारोबार अलग कर लिया था. अदर्स बेट के अंतर्गत 11 कंपनियां हैं जिनमें सेल्‍फ ड्राइविंग कार यूनिट वायमो और स्‍वास्‍थ्‍य केयर कंपनी वेरिली है.

 

=====================================================

ताजा और लेटेस्ट खबरों के लिये हमारे चैनल खबरस्पेसल.कॉम को सब्सक्राइब करें : खबरस्पेसल.कॉम, खबर स्पेसल ऑनलाइन हिंदी समाचार, हर खबर खास है, खबरस्पेसल न्यूज़ पर हर खबर खास है

=====================================================

इस वजह से दुष्कर्मी को फांसी देने पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने ली आपत्ति