गठबंधन पर राहुल गांधी को केजरीवाल ने दिया करारा जवाब, मुझे दुःख है आप बयानबाजी कर रहे हैं, Khabar Special Samachar, Khabarspecial hindi samachar, खबरस्पेशल न्यूज़, Rahul Gandhi tweets, Delhi, AAP Party, Congress, PC chacko, Sheila dikshit, BJP, Lok sabha election, Lok sabha election 2019,Cm kejriwal,U turn, Delhi lok sabha seat, Delhi constituency seat, दिल्ली में कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको, राहुल गांधी के ट्वीट पर कविराज कुमार विश्वास, AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के एक साथ मिलकर चुनाव लड़ने

नई दिल्ली, खबरस्पेशल न्यूज़, अजित सिंह, 15-अप्रैल’2019: दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के एक साथ मिलकर चुनाव लड़ने की अटकलों को राहुल गांधी ने ट्वीट कर एक नया मोड़ दे दिया है. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, अगर AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन होता है तो फिर दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के लिए राह आसान नहीं होगी.

वीडियो: एक्सरसाइज करने से पहले और बाद में आपको क्या खाना चाहिए ये जान लेना बहुत जरुरी है

साथ ही राहुल गांधी ने लिखा कि कांग्रेस AAP को 4 सीटें देना चाहती है, लेकिन सीएम केजरीवाल ने एक और यू टर्न ले लिया! आगे राहुल गांधी ने कहा कि हमारा दरवाजा अभी भी खुला है. हालांकि, राहुल के ट्वीट पर जवाब देते हुए सीएम केजरीवाल ने पूछा कि, कौन सा U-टर्न?

गौरतलब है कि कांग्रेस का मेनिफेस्टो जारी करने के बाद राहुल गांधी से जब AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने गोलमोल ही जवाब दिया था. हालांकि, ये पहला मौका है जब राहुल गांधी ने ट्वीट कर आप के साथ गठबंधन पर तमाम अटकलों को दरकिनार करते हुए अपनी इच्छा जाहिर की है.

वीडियो: देखिये आईपीएल चीयरलीडर्स की जिंदगी की हकीकत, सच है हकीकत से कोसों दूर, ऐसी भी जिदंगी होती है

वहीं, राहुल गांधी के इस ट्वीट पर जवाबी ट्वीट करते हुए सीएम केजरीवाल ने लिखा,  कौन सा U-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी.

इसके अलावा राहुल गांधी के ट्वीट पर कविराज कुमार विश्वास ने भी कुछ लिखा. विश्वास ने अपने ही अंदाज में दोनों ही नेताओं पर तंज कसते हुए लिखा.

बता दें कि बीते दिनों मीडिया से बातचीत करते हुए दिल्ली में कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको ने बताया था कांग्रेस पार्टी बीजेपी को केंद्र में आने से रोकने के लिए क्षेत्रीय दलों से गठबंधन की पक्षधर है. चाको ने ये भी बताया कि AAP नेता संजय सिंह से कई बार बातचीत भी हुई, लेकिन आम आदमी पार्टी हरियाणा और पंजाब में भी सीटों पर बातचीत करना चाहती थी.

सेहत स्पेशल में आज: गर्मी में इन रसीले फलों का करेंगे सेवन तो बच सकते हैं इस खतरनाक बीमारी से, जानें इनके फायदों के बारे में

जिस वजह से दिल्ली में 7 सीटों पर सहमति नहीं बन पाई. उन्होंने बताया कि दिल्ली में कांग्रेस का फार्मूला 4-3 का था, यानी 4 सीट आम आदमी पार्टी और 3 सीट पर कांग्रेस. पीसी चाको ने कहा कि यदि आम आदमी पार्टी सिर्फ दिल्ली में गठबंधन चाहती है तो आज भी कांग्रेस बातचीत को तैयार है.

हाल ही में संजय सिंह ने इस गठबंधन पर कहा था कि जिस पंजाब में आम आदमी पार्टी के 4 सांसद हैं और 20 विधायक हैं वहां पर कांग्रेस एक भी सीट देने को तैयार नहीं, जिस हरियाणा में कांग्रेस का केवल एक सांसद है वहां पर भी कांग्रेस सीट देने को तैयार नहीं, गोवा में आम आदमी पार्टी ने 6 फ़ीसदी से ज्यादा वोट हासिल किया था.

वीडियो: बीजेपी लीडर स्मृति ईरानी की जिंदगी का कड़वा सच, जानकर हैरान रह जायेंगे

वहां पर भी सीट देने को तैयार नहीं, चंडीगढ़ में आम आदमी पार्टी तीसरे नंबर पर रही थी वहां पर भी कांग्रेस समझौते को तैयार नहीं, लेकिन दिल्ली में जहां कांग्रेस की ना तो कोई लोकसभा सीट है ना ही कोई विधानसभा सीट वहां पर आम आदमी पार्टी से 3 सीट चाहती है जो कि पूरी तरह से अव्यवहारिक था, इसलिए कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं हो सकता.

================================================

सिर्फ एक क्लिक करके पढ़े आज की सभी बड़ी खास खबरें :  क्लिक करें

यहाँ क्लिक करें और देखें बॉलीवुड की सबसे बड़ी खबर ख़बरें :  बॉलीवुड लेटेस्ट न्यूज़

वीडियो: एक्सरसाइज करने से पहले और बाद में आपको क्या खाना चाहिए ये जान लेना बहुत जरुरी है